नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे Oiling Belly Button gives amazing Health benefits सरसों का तेल लगाने सेहोंठ नहीं फटते और फटे हुए होंठ मुलायम और सुन्दर हो

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे

  • कई लोग नाभि के महत्व को नहीं जानते हैं लेकिन हमें नाभि की सफाई पर विशेष ध्यान नहीं देने की जरुरत हैं। नाभि शरीर का केंद्र बिंदु है, साथ ही बहुत कम लोग जानते है कि त्वचा पर सरसो तेल लगाने के बहुत लाभ होते हैं, लेकिन आपको शायद यह पता नहीं होगा कि नाभि पर सरसो तेल लगाने के कितने लाभ होते हैं।

सरसो यानी स्वास्थ्य का खजाना 

  • मुख्यत: उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान और दक्षिण भारत में के घरों में सब्जी बनाने में सरसों के तेल का इस्तेमाल मुख्य रूप से किया जाता है। कुछ जगहों पर इसे कड़वा तेल के नाम से भी जाना जाता है। सरसों का तेल सेहत और सुंदरता दोनों के ही लिए बहुत फायदेमंद है। सरसों के तेल में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो दर्द नाशक का काम करते हैं। जोड़ों का दर्द हो या फिर कान का दर्द, सरसों का तेल एक औषधि की तरह काम करता है। तो आइए जानते हैं कि सरसों और सरसों के तेल हमें किन किन चीजों में उपयोग किया जाता है।

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे 

  1. नाभि में रोजाना सरसों का तेल लगाने से बहुत लाभ होते है, इससे फटे हुए होंठ नरम हो जाते हैं। इसके अलावा इससे आंखों की जलन, खुजली और सूखापन भी ठीक हो जाता है।
  2. नाभि में तेल लगाने से शरीर के किसी भी भाग में सूजन की समस्या खत्म हो जाती है। सरसों का तेल नाभि पर लगाने से घुटने के दर्द में राहत मिलती है।
  3. बारिश और सर्दियों में नाभि पर सरसो तेल लगाने से हमारे चेहरे की रंगत बढ़ जाती है, इसलिए आपको रोजाना नाभि पर सरसो तेल लगाना चाहिए।
  4. नाभि पर सरसो तेल लगाने से हमारा पाचन तंत्र भी मजबूत होता है।
  5. यदि आपको अनिद्रा अर्थात नींद नही आने की समस्या है तो रात को सोते वक्त पैरों की पगथली पर सरसों के तेल में जायफल पाउडर मिलाकर मालिस करे इससे आपको बहुत अच्छी नींद आएगी।

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे : सरसों और सरसों के तेल के 13 अन्य फायदे

  1. शरीर पर सरसों के तेल की मालिश से सारे शरीर में खून का दौरा तेज होकर शरीर में स्फूर्ति आती है। इससे शरीर पुष्ट होता है, बुढ़ापे के लक्षण मिटते हैं, थकान दूर होती है, माँसपेशियाँ मजबूत बनती हैं तथा त्वचा स्वच्छ एवं झुर्रियों रहित, कोमल कांतिपूर्ण बनती है।
  2. नवजात शिशु तथा प्रसूता, दोनों का शरीर सरसों के तेल की मालिश से पुष्ट तथा बलवान बनता है। यह शरीर के रोम छिद्रों द्वारा सारे शरीर में पहुँच कर शरीर का पोषण करता है तथा शक्ति प्रदान करता है। सर्दियों में सरसों के तेल की मालिश करके नहाने से शरीर पर ठण्ड का असर नहीं होता।
  3. शरीर का रोग ग्रस्त अंग जिसमें दर्द, सूजन या गठिया हो, सरसों के तेल की मालिश से आराम मिलता है। सरसों के तेल में हींग, अजवायन, लहसुन, डालकर गर्म करके, ठण्डा होने पर छान कर शीशी में रखें। सर्दी के कारण हाथ, पैर, कमर में दर्द होने लगे तो इस तेल की मालिश से आराम मिलेगा। बच्चों को सर्दी लग जाने पर इस तेल की मालिश से उनकी सर्दी दूर होगी।
  4. सिर के बालों में नियमित रूप से सरसों का तेल लगाने से वे असमय सफेद नहीं होंगे, सिर में दर्द नहीं होगा, आँखों की ज्योति बढ़ती है तथा नींद ठीक आती है।
  5. कानों में सरसों का तेल डालने से कान दर्द, बहरापन आदि कान के रोग मिटते हैं। इससे कान का मैल फूलकर बाहर निकल आता है। कान में दर्द हो या कीड़ा घुस गया हो तो सरसों के तेल में ३-४ कलियाँ लहसुन की डाल कर गर्म करके गुनगुना रहने पर १-२ बूँद कान में डालें। कीड़ा मरकर तेल के साथ बाहर आ जाएगा।
  6. सरसों के तेल में बारीक पिसा नमक मिलाकर कुछ समय तक लगातार मंजन करने से दाँत दर्द, पायरिया आदि रोगों में लाभ होता है। जुकाम होने पर गर्म सरसों के तेल की छाती, पीठ पर मालिश करने तथा नाक के चारों ओर लगाने से लाभ होता है।
  7. पैर के तलवों में सरसों के तेल की मालिश से थकावट दूर होती है, पैरों की शक्ति बढ़ती है तथा इससे आँखों की ज्योति भी बढ़ती है। सरसों के दाने शहद के साथ पीसकर चाटने से खाँसी में आराम मिलता है।
  8. सरसों के तेल में कपूर डालकर मालिश करने से गठिया के दर्द में आराम मिलेगा। बच्चे के पेट की तिल्ली बढ़ जाने पर सरसों के तेल को गुनगुना गर्म करके कुछ दिन उसके पेट की मालिश करें। प्रसूतिगृह की विषाक्त गंध को दूर करने के लिए सरसों के दानों की घी के साथ धूप देनी चाहिए।
  9. किसी ने जहरीला पदार्थ खा लिया हो तो गर्म पानी में सरसों के दाने पीसकर पिलाने से तत्काल वमन हो जाएगा तथा पेट से जहरीला पदार्थ बाहर निकल आता है। सरसों के तेल में आक के पत्तों का रस तथा हल्दी मिलाकर गर्म करें, ठण्डा होने पर छान कर शीशी में रख लें। खाज-खुलली, दाद आदि चर्म रोगों के लिए यह तेल बहुत फायदेमंद है।
  10. सौंदर्यवर्धंक उपयोग : दूध में सरसों को गलने तक उबाल लें, फिर उसमें गुलाबजल मिलाकर नियमित रूप से चेहरे पर उबटन करने से रंग निखरेगा। सरसों को हल्का भून, पीसकर रख लें। आवश्यकता हो तब उसमें पानी या दूध मिलाकर चेहरे पर लगाएँ। सूखने पर हल्के हाथ से रगड़ कर साफ कर लें। चेहरा चमक उठेगा।
  11. भुनी सरसों, भुने काले तिल, नागरमोथा, जायफल पीसकर उसमें थोड़ा बेसन मिलाकर उबटन करें। झाँई, मुँहासे , खुश्की मिटेगी तथा त्वचा लावण्यमय बनेगी।
  12. बेसन, हल्दी, जरा सा पीसा कपूर तथा सरसों का तेल डालकर, दही या पानी के साथ घोल बना लें। इस उबटन से रंग साफ होगा तथा त्वचा में चमक आती है।
  13. सरसों, बच, लोद, सेंधा नमक मिलाकर पानी में पीसकर मुँह पर लेप करें तथा सूखने पर गुनगुने पानी से धोकर तौलिए से रगड़कर चेहरा साफ कर लें। इससे मुँहासे मिटेंगे तथा चेहरा चमक उठेगा

नाभि में सरसों का तेल लगाने के क्या फायदे?

नाभि पर सरसो तेल लगाने से हमारे चेहरे की रंगत बढ़ जाती है, इसलिए आपको रोजाना नाभि पर सरसो तेल लगाना चाहिए। लेकिन हमें नाभि की सफाई पर विशेष ध्यान नहीं देने की जरुरत हैं

नाभि पर तेल लगाने के ये हैं 5 फायदे?

सोते समय नाभि में बस 2 बूंद तेल डालें और सेहत के 17 फायदे पाएं
नाभि में तेल लगाने के फायदे सुन कर आप आश्चर्य में पड़ जायेंगे
त को नाभि पर सरसो के तेल से मालिश करने के फायदे
नाभि में तेल लगाने के खास फायदे सुंदरता और बीमारियों से बचे रहने के लिए ताकि आप घर पर ही कर सकें अपनी देखभाल

Rajasthan panchayati raj transfer list 2021 : BDO, VDO, LDC, PEO Transfer/Posting Orders

rajasthan panchayati raj transfer list 2021 : BDO, VDO, LDC, PEO Transfer/Posting Orders Provision regarding transfers as per rule AS/PEO/PPO VDO,s Transfer

rajasthan panchayati raj transfer list 2021 : BDO, VDO, LDC, PEO Transfer/Posting Orders

BDO,s Transfer/Posting/Deputation Orders

TitleDescriptionDocument Issue Date 
BDO Transfer/ Posting OrderBDO’s Transfer/Posting Order No Dt. 202026-Sep-2019View
BDO Transfer/ Posting Amended OrderBDO Transfer/ Posting Amended Order No. Dt. 2020 19-Sep-2019View
BDO Transfer/Posting OrderBDO’s Transfer/Posting Order No Dt. 2020 19-Sep-2019View
BDO Transfer/Posting OrderBDO’s Transfer/Posting Order No Dt. 2020 13-Sep-2019View
Rajasthan panchayati raj transfer list 2021 : BDO, VDO, LDC, PEO Transfer/Posting Orders

XEN/AEN/JEN Transfer/Posting/Deputation Orders

TitleDescriptionDocument Issue Date 
Order No. 3135 Dated 26.09.2019AEN/JEN Transfer/ Posting Order No. 3135 dated 26-09-201926-Sep-2019View
AEN Transfer/ Posting OrderShri Laxman Ram Beniwal, AEN Transfer/ Posting Order No. 3115 dated 24-09-201924-Sep-2019View
AEN Transfer/ Posting OrderAEN Transfer/ Posting Order No. 3063 dated 20-09-201920-Sep-2019View
AEN Transfer/ Posting OrderShri Natwar Lal Merawat, AEN Transfer/ Posting Order No. 3064 dated 20-09-201920-Sep-2019View

VDO,s Transfer/Posting/Deputation Orders

TitleDescriptionDocument Issue Date 
Order No. 3134 Dated 26.09.2019Regarding issuing transfer/posting order of Gram Sevak(Gram Development Officer ) Letter No. 3134 Dated 26-09-201926-Sep-2019View
Gram Sevak(Gram Development Officer) Transfer/Posting LettersRegarding issuing transfer / posting order of Gram Sevak(Gram Development Officer ) Letter No. 2982 Dated 13-09-201913-Sep-2019View
Gram Sevak(Gram Development Officer) Transfer/Posting LettersRegarding issuing transfer/posting order of Gram Sevak(Gram Development Officer ) Letter No. 2943 Dated 09-09-201909-Sep-2019View

Junior Asst./Others Transfer/Posting Order

TitleDescriptionDocument Issue Date 
Order No. 3597 dated 26-09-2019Hand Pump Mistri / Fitter Transfer/ Posting Order No. 3597 dated 26-09-201926-Sep-2019View
Regarding Transfer/Posting OrderRegarding Transfer/Posting Order No. 2983 Dated 13-09-201913-Sep-2019View
Regarding Transfer/Posting LetterRegarding Transfer/Posting Letter No. 2984 Dated 13-09-201913-Sep-2019View
Regarding transfer/posting LetterRegarding transfer/posting Letter No. 2945 Dated 09-09-201909-Sep-2019View

Transfer/Posting Orders

The employees of the Department of Agriculture, Medical and Health, Women and Child Development, Elementary Education, Social Justice and Empowerment will be transferred through Panchayati Raj Institutions. This step has been taken by the State Government citing strengthening of Panchayati Raj Institutions. The order has been issued by Chief Secretary DB Gupta on Monday. Transfers made on behalf of the parent departments will now be treated as cancelled.

  • Development Officer Transfer/Transfer posting order
  • Assistant Engineer/Engineer Junior Engineer Transfer/Transfer posting
  • Assistant Secretary/Secretary Panchayat/Panchayat Progress Dissemination Officer Transfer/Transfer posting order
  • Village Sevak (Village Development Officer) Transfer/Transfer posting order
  • Junior Assistant/Assistant Other, Transfer/Transfer posting order
  • All Orders (Archive)

• As per the order issued by the Chief Secretary, the powers of transfer within the Panchayat Committee area shall be vested in the Administration and Establishment of the Panchayat Committee in the Standing Committee. The powers of transfer within the Zilla Parishad area shall be vested in the Administration and Establishment Standing Committee of the Zilla Parishad. The powers of inter-district transfer will be vested in the ancestral department of the state government. The rights of transfer from urban area to urban area, rural area to rural area, transfer from rural area to institution transferred from urban area to institution transferred from rural area will remain in the parent department, but from rural area to urban area and transferred institutions Orders for transfer to unsigned institutions will be issued on behalf of the parent department after the consent of the Department of Panchayati Raj.

Rajasthan Patwari Admit Card 2021 : राजस्थान पटवारी प्रवेश पत्र एग्जाम

Rajasthan Patwari Admit Card 2021 : राजस्थान पटवारी प्रवेश पत्र एग्जाम आवेदन rajasthan patwari online form last date RSMSSB Patwari Bharti Notification News

Rajasthan Patwari Admit Card 2021 : राजस्थान पटवारी प्रवेश पत्र एग्जाम

Written examination for Rajasthan Patwari Recruitment 2021 will be conducted. The selection will be made on the basis of marks obtained in the written test. The Examination was conducted in two phases in the last recruitment. This time it is likely that the same examination can be conducted instead of two examinations with the same pattern.

Revision in Patwari Recruitment : per cent of the OBC and 10 per cent reservation for the economically weaker section has also been included by the State Government. reports that the land revenue rule will be followed by a snob-for-recruitment of posts of Patwari.

Rajasthan Patwari Admit Card 2021 : राजस्थान पटवारी प्रवेश पत्र एग्जाम the Revenue Board has collected a number of posts from all the districts as per the non-reservation. The process of embossing in the land revenue rules for computer efficiency for Patwari recruitment is also in the final stages. With this complete completion, the recruitment process will be started through rajasthan subordinate service selection board from the revenue board. Computer educational affiliation is being changed for Patwari recruitment. For this, notification of sorority in the Land Revenue Rules will be issued by the Law Department.

  • Fact file
  • Total sanctioned posts of Patwari in the State : 12,252
  • Total Working Patwari : 8718
  • Number of Vacancies : 3835
  • Akhri Patwari Recruitment Examination: 2020
  • Computer educational regency being changed

The Revenue Board had sent a proposal to the government a month ago and the revenue has already been sanctioned by the Finance Department. Now, in the Land Revenue Rules, the Department of Law has to be consulted. Simultaneously, as per the provisions relating to reservation for the OBC and EWC i.e. The recruitment process will start through the Subordinate Service Selection Board as soon as the notification on the rules is issued. Chief Minister Ashek Gehleet had recently admitted to 3835 posts of Patwari. The last recruitment to the Patwari post was through the anti-recruitment examination conducted in 2020. In the Patwari Recruitment Examination held in 2020

candidates were placed as academic candidates for computer knowledge, which is the minimum educational knowledge. A large number of such candidates had also applied for this recruitment, who had high educational qualifications in the computer, but did not do the Araskati. The high degree of applications including B.Tech.Air M.Tech in the computer was denied recruitment citing the requirement of Aarsiti under the rules. As a result, the Rajasthan High Court has filed a writ of nearly three years and the case got caught up in the court dispute. Subsequently, it was decided to include all higher degrees in addition to Ascetic in computer education qualification for Patwari recruitment. For this, the Rajasthan Land Revenue Rules, 1957, which were framed with Patwari recruitment, are being enforced.

In the rules for Patwari recruitment, the shading was sent one-and-a-half months ago, the Law Department has issued a notification regarding the proposal. The Division has collected the information of vacancies from all the districts. The recruitment process will be started with the issuance of the notification on the issue of processing. -Vinita Srivastava, Registrar, Board of Revenue

Raj Patwari Mains Exam Pattern

Section NameExam level Total QuestionsMaximum MarksExam Duration
General Knowledge (GK) Senior Secondary Level50100 (180 Minutes)
Mathematics, ReasoningSecondary level50100
Basic Computer KnowledgeCharacteristics of computer, Computer organization RAM, ROM, file system, input devices computer software- Relationship b/w h/w & s/w, OS, MS-Office, IT .2550
General HindiSenior Secondary level2550
Grand Total150300

Patwari Recruitment Admit Card Notification