e-kuber portal rajasthan – ई-कुबेर पोर्टल माध्यम से ई-भुगतान

e-kuber portal rajasthan – ई-कुबेर पोर्टल माध्यम से ई-भुगतान e-Kuber is the Core Banking Solution of Reserve Bank of India ऑनलाइन भुगतान ई कुबेर पोर्टल से

What is e-Kuber

  • e-Kuber is the Core Banking Solution of Reserve Bank of India.
  • Core Banking Solutions (CBS) can be defined as a solution that enables banks to offer a multitude of customer-centric services on a 24×7 basis from a single location, supporting retail as well as corporate banking activities, as well as all possible delivery channels existing and proposed.
  • E-Kuber provides the provision of a single current account for each bank across the country, with decentralized access to this account from anywhere-anytime using portal based services in a safe manner.
  • The centralisation thus makes a “one-stop” shop for financial services a reality. e-kuber portal rajasthan
  • Using CBS, customers can access their accounts from any branch, anywhere, irrespective of where they have physically opened their accounts. Source:RBI

ई-कुबेर पोर्टल से 10 मिनटों में खाते में पहुंचेगा वेतन

e-kuber portal rajasthan अब कोषागार में ई-कुबेर प्रणाली योजना प्रभावी कर दिया गया है। ई कुबरे पोर्टल से अब किसी भी विभाग का वेतन व पेंशन मिनटों में खाते में पहुंच जाएगा। । वर्तमान में विभिन्न विभागों को खातों में धन भेजने में कम से कम चौबीस घंटे लगते थे और नेटवर्क स्लो रहने की आए दिन परेशानी अलग होती थी। अब इस पोर्टल के जरिए इस तरह की समस्या नहीं रहेगी। अब शासन इस नई व्यवस्था यानी ई कुबेर प्रणाली से सिस्टम को जोड़ देगी। इसके बाद स्टेट बैंक से संबद्धता खत्म हो जाएगी। आसानी से सारा कार्य कोषागार से ही संचालित किया जाएगा। कोषागार स्टेट बैंक की साइट पर काम करता है। इसी पर समस्त विभागों के डीडीओ सहित अन्य लोग भी काम करते थे। इसके बाद यह कोषागार में जाता था। कोषागार के बाबू इसे पास कर मुख्य कोषाधिकारी के यहां भेजते थे। मुख्य कोषाधिकारी पूरी जांच पड़ताल के बाद रिजर्व बैंक को पैसा फारवर्ड करते हैं। यहां से अनुमति मिलने पर पैसा सभी के खातों में भेजा जाता था। ऐसे में नेट स्लो रहने पर कई-कई घंटे लग जाते थे। इसकी वजह से लोगों के खाते तक धन पहुंचने में कम से कम 24 घंटे से अधिक का समय लग जाता था और कार्य भी अधिक करना पड़ता था। अगर नेट स्लो है तो और भी स्थिति विकट हो जाती थी। केवल वेतन भेजने में ही दो से चार दिन लग जाता था। इसी फजीहत को देखते हुए शासन ने सीधे खातों में धन भेजने का निर्णय लिया है। अब कोषाधिकारी ही सीधे खाते में धन भेज देंगे।

ई-कुबेर प्रणाली से यह होंगे लाभ :::

-समय से लोगों के खातों में पहुंचेगा धन

-नेट स्लो रहने पर भी नहीं होगी दिक्कत

-कई फाइलें इकट्ठा होने पर ट्रांसफार्मर में नहीं होगी दिक्कत

e kuber rajasthan taning video :PAY MANAGER में E KUBER क्या करना, मोबाइल से Paymanager पर DDO ID को E-Kuber पोर्टल हेतु update, E kuber 1, E kuber 2 Soure YouTube Video

The new procedure for online payment in state affairs through RBI’s e-Kuber portal will commence from 22nd October. The process will be for the Treasurer Ajmer (Ay sub-sac) and its associated Drawal distribution officers. e-kuber portal rajasthan

District Treasurer Ram Kishore Meena said that at present, government transactions are carried out by the Reserve Bank of India through the bank’s platform. The role of agency bank in Drawal of government funds will be eliminated once the E-kuber system is implemented. The Treasury will be able to transact money directly through the RBI. Detailed details and guidelines on this process have been issued to all the Drawal distribution officers and deputy treasurer of Ajmer.

e-kuber portal rajasthan – ई-कुबेर पोर्टल माध्यम से ई-भुगतान

He said that it is mandatory to register the mobile number of the withdrawal distribution officer and the DDO master data on e-scum ID, si-manager, PRI, si-manager. In the absence of this, the bill for payment of E-kuber/ Payment advice will not be processed. In case of any difficulty in this regard, the Treasury can be approached from Ajmer.

rajasthan 2nd grade teacher transfer list 2021 शिक्षा विभाग सीनियर टीचर तबादले सूची

rajasthan 2nd grade teacher transfer list 2021 शिक्षा विभाग टीचर तबादले सूची Jari education.rajasthan.gov.in education secondary-education Postingorder Transfer Order शिक्षा विभाग सीनियर टीचर तबादले शुरू 2nd grade teacher rajasthan transfer list zone wise update here Rajasthan Transfer Orders today 2021 List

rajasthan 2nd grade teacher transfer list 2021 शिक्षा विभाग सीनियर टीचर तबादले सूची

education rajasthan transfer list today – Click Here

education.rajasthan.gov.in transfer list 2nd grade 2021

senior teachers Transfer Order 19.05.2018

अब होंगे शिक्षकों के तबादले 19 तक करे ऑनलाइन आवेदन
तीन फेज में पूरी हाेगी आवेदन की प्रक्रिया,

आफलाइन आवेदन नहीं हाेंगे स्वीकार, प्रिंसिपल, एचएम, लेक्चरर और सैकंड ग्रेड टीचर्स से मांगें आवेदन

rajasthan 2nd grade शिक्षा विभाग में कार्यरत शिक्षकाें का तबादलाें काे लेकर चल रहा इंतजार आखिरकार खत्म हाे गया है। विभाग में कार्यरत प्रिंसिपल, एचएम, लेक्चरर और सैकंड ग्रेड टीचर्स तबादलाें के लिए आनलाइन आवेदन मांग लिए गए है। अावेदन की प्रक्रिया तीन फ्रेज में पूरी हाेगी। प्रिंसिपल-एचएम 6 से 9 सितंबर, लेक्चरर 11 से 14 सितंबर और सैकंड ग्रेड टीचर 16 से 19 सितंबर तक अावेदन कर सकेंगे। तबादलाें के लिए शिक्षकाें काे केवल आनलाइन आवेदन ही करना हाेगा। आफलाइन अावेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। हालांकि शिक्षा विभाग ने आवेदन की प्रक्रिया ताे शुरू कर दी है लेकिन तबादले किसी अाधार पर हाेंगे इसे लेकर फिलहाल काेई गाइड लाइन जारी नहीं हुई है।

Rajasthan 2nd grade लंबे समय से ग्रामीण क्षेत्राें में बैठे शिक्षक गृह जिले में अाना चाहते हैं। प्राेबेशनकाल में चल रहे शिक्षकाें काे भी स्थानांतरण का इंतजार है। काउंसलिंग से जिले से बाहर गए शिक्षक भी सुविधाजनक स्थान पर आना चाहते हैं। प्राइवेट स्कूलाें से समायोजित शिक्षक शहरी क्षेत्र में तबादला चाहते हैं। ट्रांसफर के आनलाइन आवेदन शाला दर्पण पाेर्टल पर ‘स्टाॅफ काेर्नर’ पर सुबह 10 से रात 12 बजे तक किए जाएंगे। टीचर्स की ट्रांसफर अर्जी पर कार्यवाही शाला दर्पण में दर्ज विवरण के अाधार पर ही हाेगी। माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने इस संबंध निर्देश जारी किए है। निदेशक की और से जारी निर्देश में स्पष्ट किया गया है कि तबादलाें के लिए अावेदन केवल एक प्रक्रिया है यह स्थानांतरण का अधिकार नहीं है।
थर्ड ग्रेड टीचर्स निराश rajasthan 2nd grade
शिक्षा विभाग ने हालांकि तबादलाें के लिए शुक्रवार से आवेदन की प्रक्रिया शुरू कर दी है लेकिन थर्ड ग्रेड टीचर्स काे लेकर काेई दिशा-निर्देश जारी नहीं किए गए है। जिसे लेकर तृतीय श्रेणी शिक्षक नाखुश है। अभी प्रिंसिपल से लेकर सैकंड ग्रेड टीचर से ही आवेदन मांगें गए है। माध्यमिक सेटअप और प्रारंभिक सेटअप में कार्यरत तृतीय श्रेणी शिक्षकाें के तबादलाें काे लेकर आवेदन की प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है। इनके तबादले अभी नहीं हाेंगे। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय व अधीनस्थ कार्यालयाें पर तबादलाें काे लेकर फिलहाल काेई हलचल नहीं है। Rajasthan 2nd grade
प्रिंसिपल-एचएम, लेक्चरर आर सैकंड ग्रेड टीचर्स ट्रांसफर के लिए आनलाइन आवेदन मांगें गए है। स्थानांतरण के लिए गाइड लाइन तैयार हाे रही है। शीघ्र ही जारी कर दी जाएगी। -नथमल डिडेल, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा rajasthan 2nd grade
तृतीय श्रेणी शिक्षकाें के साथ दाेहरी नीति अपनाई जा रही है। सरकार काे चाहिए कि थर्ड ग्रेड टीचर के तबादलाें की प्रक्रिया भी शुरू करें। -श्रवण पुराेहित, प्रदेशमंत्री, शिक्षक संघ शेखावत
शिक्षा विभाग ने जिस प्रकार से शिक्षक सम्मान के लिए आनलाइन आवेदन लेकर टीचर्स का चयन किया है। उसकी प्रकार पूरी पारदर्शिता से आनलाइन आवेदन प्रक्रिया में शिक्षकाें के स्थानांतरण भी किए जाए। महेंद्र पांडे, महामंत्री, राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षक संघ

**************

#जयपुर: #शिक्षा विभाग में तबादलों का मामला, तबादला सूची आने के साथ ही कैंसिल होने लगे तबादले, जयपुर उपनिदेशक माध्यमिक ने तबादले कैंसल करने की सूची जारी की, 3 शिक्षकों की सूची जारी rajasthan 2nd grade

#जयपुर: #द्वितीय ग्रेड स्थानांतरण का मामला, तबादला सूची में 2600 स्थानांतरण हुए, जोधपुर ,कोटा की लिस्ट आने में वक्त लगेगा, करीब 20 प्रतिशत लोगों का स्थानांतरण किया गया

प्रधानाध्यापक-मावि के शिक्षा अधिकारीयों के स्थानांतरण आदेश 

0 Subject Order Number Order Date
1 Zone Office Transfer Orders for senior teachers/Sr.PTI/Sr.LabAsst.:- Ajmer     Bharatpur     Bikaner     Churu     Jaipur     Pali     Udaipur 19.05.18

In the Education Department, the third category of the transferred policy is being invited to the application for the transfer of teachers. These applications will be applied by April 20 in the District Education Officer Office. The real transferred list of teachers are then made public representatives especially legislators who are sending their lists online. Teachers were not able to act on such applications before but also were invited.

The Education Department has requested the application for the transfer of third-class teachers after 8 Vararasho. This time, the district will have to pay for district transfers to the district, the district Education officer, Director for Education Officers Office and Inter District transfers of related districts. Inter District Sathananatar will be carried out by the former teachers from 31st December 2012. Karayartt Eese teachers in restricted districts who are appointed before Dec. 2019 will be able to have their own transfers. This makes the surrounding of Alwar transfers to hundreds of district teachers.

Customize the first transferred policy

Teachers say the government has not only created a transferred policy in the Education Department, which does not make any sense to invite applications for transfers. About this the teacher leaders expressed their response thus.

-No policy has been made for the transfer of teachers in the Education Department. This time the department is magavaing prayer letters from teachers to Khanapurti while no transferred policy has been made so far.

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे Oiling Belly Button gives amazing Health benefits सरसों का तेल लगाने सेहोंठ नहीं फटते और फटे हुए होंठ मुलायम और सुन्दर हो

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे

  • कई लोग नाभि के महत्व को नहीं जानते हैं लेकिन हमें नाभि की सफाई पर विशेष ध्यान नहीं देने की जरुरत हैं। नाभि शरीर का केंद्र बिंदु है, साथ ही बहुत कम लोग जानते है कि त्वचा पर सरसो तेल लगाने के बहुत लाभ होते हैं, लेकिन आपको शायद यह पता नहीं होगा कि नाभि पर सरसो तेल लगाने के कितने लाभ होते हैं।

सरसो यानी स्वास्थ्य का खजाना 

  • मुख्यत: उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान और दक्षिण भारत में के घरों में सब्जी बनाने में सरसों के तेल का इस्तेमाल मुख्य रूप से किया जाता है। कुछ जगहों पर इसे कड़वा तेल के नाम से भी जाना जाता है। सरसों का तेल सेहत और सुंदरता दोनों के ही लिए बहुत फायदेमंद है। सरसों के तेल में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो दर्द नाशक का काम करते हैं। जोड़ों का दर्द हो या फिर कान का दर्द, सरसों का तेल एक औषधि की तरह काम करता है। तो आइए जानते हैं कि सरसों और सरसों के तेल हमें किन किन चीजों में उपयोग किया जाता है।

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे 

  1. नाभि में रोजाना सरसों का तेल लगाने से बहुत लाभ होते है, इससे फटे हुए होंठ नरम हो जाते हैं। इसके अलावा इससे आंखों की जलन, खुजली और सूखापन भी ठीक हो जाता है।
  2. नाभि में तेल लगाने से शरीर के किसी भी भाग में सूजन की समस्या खत्म हो जाती है। सरसों का तेल नाभि पर लगाने से घुटने के दर्द में राहत मिलती है।
  3. बारिश और सर्दियों में नाभि पर सरसो तेल लगाने से हमारे चेहरे की रंगत बढ़ जाती है, इसलिए आपको रोजाना नाभि पर सरसो तेल लगाना चाहिए।
  4. नाभि पर सरसो तेल लगाने से हमारा पाचन तंत्र भी मजबूत होता है।
  5. यदि आपको अनिद्रा अर्थात नींद नही आने की समस्या है तो रात को सोते वक्त पैरों की पगथली पर सरसों के तेल में जायफल पाउडर मिलाकर मालिस करे इससे आपको बहुत अच्छी नींद आएगी।

नाभि पर सरसो तेल लगाने के फायदे : सरसों और सरसों के तेल के 13 अन्य फायदे

  1. शरीर पर सरसों के तेल की मालिश से सारे शरीर में खून का दौरा तेज होकर शरीर में स्फूर्ति आती है। इससे शरीर पुष्ट होता है, बुढ़ापे के लक्षण मिटते हैं, थकान दूर होती है, माँसपेशियाँ मजबूत बनती हैं तथा त्वचा स्वच्छ एवं झुर्रियों रहित, कोमल कांतिपूर्ण बनती है।
  2. नवजात शिशु तथा प्रसूता, दोनों का शरीर सरसों के तेल की मालिश से पुष्ट तथा बलवान बनता है। यह शरीर के रोम छिद्रों द्वारा सारे शरीर में पहुँच कर शरीर का पोषण करता है तथा शक्ति प्रदान करता है। सर्दियों में सरसों के तेल की मालिश करके नहाने से शरीर पर ठण्ड का असर नहीं होता।
  3. शरीर का रोग ग्रस्त अंग जिसमें दर्द, सूजन या गठिया हो, सरसों के तेल की मालिश से आराम मिलता है। सरसों के तेल में हींग, अजवायन, लहसुन, डालकर गर्म करके, ठण्डा होने पर छान कर शीशी में रखें। सर्दी के कारण हाथ, पैर, कमर में दर्द होने लगे तो इस तेल की मालिश से आराम मिलेगा। बच्चों को सर्दी लग जाने पर इस तेल की मालिश से उनकी सर्दी दूर होगी।
  4. सिर के बालों में नियमित रूप से सरसों का तेल लगाने से वे असमय सफेद नहीं होंगे, सिर में दर्द नहीं होगा, आँखों की ज्योति बढ़ती है तथा नींद ठीक आती है।
  5. कानों में सरसों का तेल डालने से कान दर्द, बहरापन आदि कान के रोग मिटते हैं। इससे कान का मैल फूलकर बाहर निकल आता है। कान में दर्द हो या कीड़ा घुस गया हो तो सरसों के तेल में ३-४ कलियाँ लहसुन की डाल कर गर्म करके गुनगुना रहने पर १-२ बूँद कान में डालें। कीड़ा मरकर तेल के साथ बाहर आ जाएगा।
  6. सरसों के तेल में बारीक पिसा नमक मिलाकर कुछ समय तक लगातार मंजन करने से दाँत दर्द, पायरिया आदि रोगों में लाभ होता है। जुकाम होने पर गर्म सरसों के तेल की छाती, पीठ पर मालिश करने तथा नाक के चारों ओर लगाने से लाभ होता है।
  7. पैर के तलवों में सरसों के तेल की मालिश से थकावट दूर होती है, पैरों की शक्ति बढ़ती है तथा इससे आँखों की ज्योति भी बढ़ती है। सरसों के दाने शहद के साथ पीसकर चाटने से खाँसी में आराम मिलता है।
  8. सरसों के तेल में कपूर डालकर मालिश करने से गठिया के दर्द में आराम मिलेगा। बच्चे के पेट की तिल्ली बढ़ जाने पर सरसों के तेल को गुनगुना गर्म करके कुछ दिन उसके पेट की मालिश करें। प्रसूतिगृह की विषाक्त गंध को दूर करने के लिए सरसों के दानों की घी के साथ धूप देनी चाहिए।
  9. किसी ने जहरीला पदार्थ खा लिया हो तो गर्म पानी में सरसों के दाने पीसकर पिलाने से तत्काल वमन हो जाएगा तथा पेट से जहरीला पदार्थ बाहर निकल आता है। सरसों के तेल में आक के पत्तों का रस तथा हल्दी मिलाकर गर्म करें, ठण्डा होने पर छान कर शीशी में रख लें। खाज-खुलली, दाद आदि चर्म रोगों के लिए यह तेल बहुत फायदेमंद है।
  10. सौंदर्यवर्धंक उपयोग : दूध में सरसों को गलने तक उबाल लें, फिर उसमें गुलाबजल मिलाकर नियमित रूप से चेहरे पर उबटन करने से रंग निखरेगा। सरसों को हल्का भून, पीसकर रख लें। आवश्यकता हो तब उसमें पानी या दूध मिलाकर चेहरे पर लगाएँ। सूखने पर हल्के हाथ से रगड़ कर साफ कर लें। चेहरा चमक उठेगा।
  11. भुनी सरसों, भुने काले तिल, नागरमोथा, जायफल पीसकर उसमें थोड़ा बेसन मिलाकर उबटन करें। झाँई, मुँहासे , खुश्की मिटेगी तथा त्वचा लावण्यमय बनेगी।
  12. बेसन, हल्दी, जरा सा पीसा कपूर तथा सरसों का तेल डालकर, दही या पानी के साथ घोल बना लें। इस उबटन से रंग साफ होगा तथा त्वचा में चमक आती है।
  13. सरसों, बच, लोद, सेंधा नमक मिलाकर पानी में पीसकर मुँह पर लेप करें तथा सूखने पर गुनगुने पानी से धोकर तौलिए से रगड़कर चेहरा साफ कर लें। इससे मुँहासे मिटेंगे तथा चेहरा चमक उठेगा।

नाभि में सरसों का तेल लगाने के क्या फायदे?

नाभि पर सरसो तेल लगाने से हमारे चेहरे की रंगत बढ़ जाती है, इसलिए आपको रोजाना नाभि पर सरसो तेल लगाना चाहिए। लेकिन हमें नाभि की सफाई पर विशेष ध्यान नहीं देने की जरुरत हैं

नाभि पर तेल लगाने के ये हैं 5 फायदे?

सोते समय नाभि में बस 2 बूंद तेल डालें और सेहत के 17 फायदे पाएं
नाभि में तेल लगाने के फायदे सुन कर आप आश्चर्य में पड़ जायेंगे
त को नाभि पर सरसो के तेल से मालिश करने के फायदे
नाभि में तेल लगाने के खास फायदे सुंदरता और बीमारियों से बचे रहने के लिए ताकि आप घर पर ही कर सकें अपनी देखभाल