Rajasthan 3rd Grade Teacher Level-1st Recruitment 2020

Rajasthan 3rd Grade Teacher Level-1st Recruitment 2020 / रीट 31,000 पदो की भर्ती की सूचना Rajasthan 3rd Grade Teacher Recruitment 2020, REET Third Grade Teacher Jobs 2020, Rajasthan Grade-III Teacher Vacancy 2020 REET Level First & Second Online form before Last Date 2020 at- education.rajasthan.gov.in

Rajasthan Teacher Eligibility Exams The first level of Reat has been released on Wednesday night. All candidates who gain at least 60 percentage points in the test have been declared qualifiers. 2 lakh 8 thousand 877 candidates were registered for this test. Rajasthan 3rd Grade Teacher Level-1st Recruitment 2020 पदो की भर्ती की सूचना

The Reat examination was conducted on February 11 by the secondary board of Education. 54 thousand third class teachers are to be recruited through Reat in the state. Reat First Level examination was organised for recruitment of teachers from Class A to fifth. Teachers will be recruited through the Reat II level to teach in class from six to VIII.

64, 824 candidates eligible
A total of 2 lakh 8 thousand 877 students were registered in Reat exam. Of these, 1 lakh 83 thousand joined the 556 candidates exam. Of these, 64 thousand 824 candidate have been declared eligible. The total pass percentage is 35.31. The test included a total of 84 thousand 913 male candidate. Of these, 32 thousand 191 were declared eligible. The percentage of them was 37.91 per cent. Women’s candidate 98, 643 Shamal Hui. Among them 32, 633. The percentage they passed was 33.08. The result of Reat has been made available on the Web portal.

Rajasthan 3rd Grade Teacher Level-1st Recruitment 2020 पदो की भर्ती की सूचना

was before Artet The Artet examination was initiated in Rajasthan after the central government’s teacher eligibility test was implemented. The examination was made twice in the then Congress Raj. The duration of its certificate was six years. The current BJP government started the reat exam in place of artet. The same exam is required for teacher recruitment. Through this examination there will be a recruitment of 54 thousand third class teachers.

Rajasthan 3rd Grade Teacher Recruitment 2020, REET Third Grade Teacher Jobs 2020, Rajasthan Grade-III Teacher Vacancy 2020

Long after recruitment The recruitment of third-class teachers in the state will be long. Under the PRI institutions in the Congress Raj, the district councils were given rights to teacher recruitment. The BJP government has launched a teacher recruitment through reat instead of the district Council. In the first level, eighth from

Recruitment for third class teachers in Rajasthan through Elijibiliti recruitment exam for teacher (REET). There have been several new provisions in this test. Under the new system, the candidates will get the number on the competition exam as well as the points achieved during education.
Under the new arrangement, there will be no exams at the district Council level. The state Government will only recruit teachers through REET. Based on the preference given by candidates, they will be given appointments in different districts.

REET 54000 Teacher Recruitment 2020, REET 3rd Grade Level-1 & Level-2 Vacancy 2020 हज़ार पदो की सूचना देखे

There has been no change in the standards of qualification in the exam. In the case of recruitment of grade third teachers, level-1 has been the standard of B.Ed with graduating for class-I as well as Biestisi and level-2 for teacher of classes 6 to 8. Provision of REET 2020 Rajasthan 3rd Grade Teacher Level-1st Recruitment 2020 / रीट 31,000 पदो की भर्ती की सूचना

60% marks added of REET
40 per cent higher secondary, graduating, Biestisi and B.Ed added
There will be no exams at the district Council level.

Rajasthan GK in Hindi : वन सम्पदा राजस्थान सामान्य ज्ञान

Rajasthan GK in Hindi : वन सम्पदा राजस्थान सामान्य ज्ञान General knowledge questions of Rajasthan in Hindi pdf rajasthan gk in hindi online test

Rajasthan GK in Hindi : वन सम्पदा राजस्थान सामान्य ज्ञान

  • राजस्थान का वह जिला, जहॉ उष्ण कटिबन्धीय शुष्क पर्णपाती वन पाये जाते हैं, वह है-
    – सिरोही
  • थार का कल्पवृक्ष कहा जाने वाला वृक्ष है-
    -खेजड़ी
    व्याख्या – इसे शमी, जाटीख् छोंकड़ा भी कहा जाना है। खेजड़ी का वैज्ञानिक नाम ‘प्रोसोसिप सिनेरिया’ है। खेजड़ी को 1983 में राज्य वृक्ष घोषित किया गया था। राजय में दशहरे के अवसर पर खेजड़ी का पूजन किया जाता है। खेजड़ी का पूजन शीतला माता के प्रतीक के रूप में भी किया जाता है। प्रसिद्ध लोक देवता गोगाजी का स्थान भी खेजड़ी के वृक्ष के नीचे स्थित होता है।
  • किस वृक्ष का वैज्ञानिक नाम प्रोसेसिप सीनेरिया है-
    -खेजड़ी
    व्याख्या – खेजड़ी को थार का कल्पवृक्ष कहा जाता है। इसे स्ािानीय भाषा में जाटी वृक्ष भी कहा जाता है।
    खेजडी की पत्तियों को लूम व फलियों को सांगरी कहा जाता है।
  • राजस्थान का राज्य वृक्ष है-
    – खेजड़ी
  • राज्य पुष्प जिसे राजस्थान का सागवान कहा जात है-
    -रोहिड़ा
    व्याख्या – रोहिडा का फूल 1983 ई. में राजकीय पुष्प घोषित किया गया। इसका वैज्ञानिक नाम टेकोमेला अंडुलेटा है।
    राहिड़ा के फुल को जोधपुर में मारवाड टीक नाम से जाना जाता है।
  • राजस्थान का राज्य पक्षी है-
    -गोडावन
  • किस जिले का सम्बन्ध सेवण घास से है-
    -जैसलमेर
  • राजस्थान में सागवान बनों के लिए कौनसा जिला प्रसिद्ध है-
    -बॉंसवाडा
  • राजस्थान में उगने वाले अर्जुन वृक्ष का मुख्य महत्त्व क्या हैं-
    -यह परोक्ष रूप से टसर रेशम के उत्पादन से जुड़ा हुआ हैं
  • पर्यावरण एवं वन मंत्रालय के 2001 के आंकड़ो के अनुसार राजस्थान में वनक्षेत्र का प्रतिशत क्या है-
    – 9.5 प्रतिशत
  • राजस्थान का कौनसा हिस्सा बड़े पैमाने पर वन क्षेत्र से रहित हैं-
    – पश्चिमी
  • शुष्क वन अनुसंधान संस्थान कहॉ स्थित है-
    -जोधपुर
  • राज्य का न्यूनतम वन क्षेत्र वाला जिला है-
    -चूरू
  • ‘स्मृति वन’ कहॉ विकसित किया गया है-
    -झालाना (जयपुर)
  • राजस्थान में घास के मैदान या चारागाहों को कहा जाता है-
    -बीड़
  • राज्य में सबसे अधिक आरक्षित वन क्षेत्र वाले जिले कौनसे है-
    -उदयपुर, चितौड़गढ़
  • किस वृक्ष के पत्तों से बीड़ी बनाई जाती है-
    -तेंदू
  • तेंदू के पत्ते मुख्यतः जिस जिले में प्राप्त किये जाते है, वह है-
    -बॉसवाड़ा
  • ज्ंागल की आग से आशय है-
    -पलाश के फूलों से
  • राजस्थान में प्रति हैक्टेयर सर्वाधिक जैव विविधता वाला देव वन किस जिले में है-
    -कोटा

GK Read More :-

राजस्थान परिवहन Top Quiz

राजस्थान का परिचय

  • राजस्थान में वन मण्डलों की संख्या है-
    – 13
  • राजस्थान में वन्य जीव अभ्यारण्य कितने हैं-
    -25
  • राज्य में नई वन नीति घोषणा कब हुई-
    -18 फरवरी 2010
  • राजस्थान में ‘शुष्क सागवान वन’ कहॉ पाये जाते है-
    -डूॅंगरपुर व बॉसवाड़ा में
    व्याख्या – ये वन चित्तौड़गढ़, बॉसवाड़ा,डूॅगरपुर,राजसमंद, कोटा व बारां जिलों में पाये जाते है। यहां पर वार्षिक वर्षा 80 सेमी स 100 सेमी तक होती है।
  • कौनसे वृक्ष को -जंगल की आग’ के द्वारा सम्बोधित किया जाता है-
    – ढाक
    व्याख्या – वह वृक्ष 80 सेमी से अधिक वर्षा क्षेत्रों में पाया जाता है। इसका प्रयोग प्राकृतिक रंगों के निर्माण में भी किया जाता है।
  • राजस्थान का लगभग कितने प्रतिशत भौगोलिक भाग वनाच्छादित है-
    -7 से 9 प्रतिशत
  • धोकड़ा है-
    -वृक्ष
  • घामण्ड, घरड़ एवं अंजन है
    – राजस्थान में घास की किस्में
  • रखत, कांकड़, डांग और रूद ये सभी-
    – वनों के संरक्षण से संबंधित है
  • अमृतादेवी मृग वन स्थित है-
    -खेजड़ली
  • महुआ के पेड़ किन जिलों में होते हैं-
    -उदयपुर, चित्तौड़गढ़
    व्याख्या – महुआ का उपयोग देशी शराब के निर्माण में किया जाता है।
  • राजस्थान राज्य के कुल प्रतिवेदन क्षेत्रफल में वन भूमि है-
    -7.8 प्रतिशत
  • राज्य में कुल कितने राष्ट्रीय उद्यान है-
    -3
    व्याख्या – राजस्थान में रणथम्भैर राष्ट्रीय उद्यान (1980 में घोषित) व केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान, भरतपुर (1981 में घोषित) में स्थित है।
  • रिमोट सेंसिग एप्लीकेशन सेंटर की स्थापना राज्य में कहॉ की गई है-
    -जोधपुर
  • अमृतादेवी पुरस्कार किससे सम्बन्धित है-
    -वन सरंक्षण
    व्याख्या – यह राज्य स्तरीय पुरस्कार 1994 से वन एवं वन्य जीवों के संरक्षण के लिए दिया जाता है। यह तीन रूपों में प्रदान किया जाता है।
    1 वन विकास, संरक्षण एवं वन्य जीव सुरक्षा में उत्कृष्ट कार्य करने वाली ग्राम पंचायत/ग्राम स्तरीय संस्थाओं/वन सुरक्षा प्रबंध समितियों को 50,000 रूपये व प्रमाण पत्र ।
    2 वन विकास, संरक्षण एवं वन सुरक्षा में उत्कृष्ट कार्य करने वाला व्यक्ति 25000 रूपये व प्रमाण पत्र।
    3 वन्य जीव विकास, संरक्षण एवं वन्य जीव सुरक्षा में उत्कृष्ट कार्य करने वाला व्यक्ति 25000 रूपये व प्रमाण पत्र।
  • सेवण है-
    -एक घास का नाम
  • ‘सेवण घास’ किस जिले में विस्तृत रूप से उगती है-
    -जैसलमेर
    व्याख्या – इसको वैज्ञानिक नाम ‘लसियुरूस सिड़कुस’ है। सूखी सेवण घास को लीलोण कहा जाता है।
  • सागवान रोपण हेतु सबसे उपयुक्त जिले है-
    -बॉंसवाड़ा एवं उदयपुर
  • राजस्थान के किस क्षेत्र में सागवान के वन पाये जाते हैं-
    -दक्षिणी
  • ‘रूख भायला’ का अर्थ है-
    -वृक्ष मित्र से
    व्याख्या – इस कार्यøम का प्रारम्भ 1986 में तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गॉधी के द्वारा डूॅंगरपुर जिले के बगतरी गॉव में किया गया था।
  • राजस्थान का राज्य वृक्ष खेजड़ी-थान का कल्पवृक्ष कहलाता है। यह राज्य में वन क्षेत्र के कितने भाग में पाए जाते हैं-
    -2/3
  • रेगिस्तान का सागवान कौनसा वृक्ष कहलाता है-
    -रोहिड़ा
  • प्राचीन एवं विशिष्ट प्रजातियों के वृक्षों की पहचान सुरक्षित करने के उदेश्य से किस पुरस्कार की स्थापना की गई-
    -महावृक्ष पुरस्कार
    व्याख्या – राज्य में सर्वाधिक वन क्षेत्र वाला जिला उदयपुर है। उदयपुर में 4141.69 वर्ग किमी. वन है। जो राज्य के कुल वन क्षेत्र का 12.66 प्रतिशत है।
  • राजस्थान के पश्चिमी भाग में वन किस रूप में है-
    -वन, कांटेदार पेड़ व झाड़ियों (मरुद्भिद) के रूप में
  • खेजड़ी वृक्ष की पूजा किस पर्व पर की जाती है-
    -दशहरा
  • राज्य पुष रोहिड़ा राजस्थान के किस भाग में सर्वाधिक पाया जाता है-
    -पश्चिमी राजस्थान
  • राजस्थान में सर्वाधिक वन क्षेत्र है-
    -उदयप ुर एव राजसमंद जिलों में
  • अमृतादेवी स्मृति पुरस्कार जिसके लिए दिया जाता है-
    -वन एवं वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए
  • राजस्थान में बार-बार होने वाले ‘सूखे एवं अकाल’ का प्रमुख कारण है-
    -अनियमित वर्षा
  • राजस्थान में वनों की कमी का प्रमुख कारण है-
    -जलवायु परिवर्तन
  • राजस्थान में कौनसी मुख्य वन उपज नहीं मानी जाती है-
    -बॉंस
  • भारत में सागवान के उत्पादन में निरंतर कमी हो रही है, राजस्थान के वे कौनसे जिले है जो सागवान की वृद्धि में सहायक सिद्ध हो सकते है-
    -बॉसवाड़ा-उदयपुर
  • राजस्थान में कौनसी मुख्य वन उपज नहीं मानी जाती है-
    -बॉंस

Rajasthan GK 2020 : परिवहन Top Quiz

Rajasthan GK 2020 : परिवहन Top Quiz Rajasthan General Knowledge Download Rajasthan GK Review notes study material, RAS RPSC Teacher Patwari LDC job news etc

Rajasthan GK 2020 : परिवहन Top Quiz

  • किस राजमार्ग को एन.एच.-11 के नाम से जाना जाता है-
    आगरा-भरतपुर-सीकर-बीकानेर
  • रेलवे द्वारा प्रस्तावित डेडि केटेड फ्रेट कोरिडोर राजस्थान के किन-किन जिलों से निकलेगा-
    -सीकर, जयपुर, अजमेर, पाली
  • पैलेस ऑन व्हील्स रेलगाड़ी किस स्थान पर नहीं जाती है-
    -धौलपुर
  • राष्ट्रीय राजमार्ग नं. 15 किस राज्य से होकर गुजरता है-
    (आन्ध्र प्रदेश, कर्नाटक, राजस्थान व मध्य प्रदेश)
    – राजस्थान
  • राष्ट्रीय राजमार्ग 89 कौनसे दो शहरों को आपस में जोड़ता है-
    अजमेर व बीकानेर
  • कोटा, उदयपुर, बीकानेर और टोंक में से किस एक नगर से होकर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 गुजरता है-
    -उदयपुर
  • राजस्थान में राष्ट्रीय राजमार्ग-15 पर स्थित नगर है-
    -गंगानगर-बीकानेर-जैसलमेर-बाड़मेर
  • राजस्थान में किस राष्ट्रीय राजमार्ग की लम्बाई सबसे अधिक है-
    एन. एच. 15
  • रिडकोर है-
    -रीड इन्फ्रास्ट्रक्चर डवलमेंट कम्पनी ऑफ राजस्थान
  • राजस्थान का कौन-सा जिला रेलवे सेवा से अछूता है-
    -बॉंसवाडा
  • मुनाबाव किस जिले में है- Rajasthan GK 2019
    -बाड़मेर

  • राष्ट्रीय राजमार्ग सं. 3 राजस्थान के किस जिले से गुजरती है-
    -धौलपुर
    व्याख्या- राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 3 आगरा-धौलपुर-मुम्बई से होकर गजरता है।
  • कौनसा राष्ट्रीय राजमार्ग राजस्थान के बीकानेर तथा जैसलमेर शहरों से होता हुआ पंजाब तक जाता है-
    – राष्ट्रीय राजमार्ग 15
  • राजस्थान की पहली रेल बस सेवा कहॉ प्रारम्भ की गई-
    -मेड़ता सिटी Rajasthan GK 2019
    व्याख्या – देश की प्रथम रेल बस राजस्थान में मेडतासिटी से मेड़ता रोड के मध्य अक्टूबर 1994 को प्रारम्भ हुई
  • राजस्थान में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना कब से प्रारम्भ की गई-
    -25 दिसम्बर 2000
  • मुनाबाव होकर पाकिस्तान जाने वाली रेलगाड़ी का नाम है-
    – थार एक्सप्रेस
  • ज्यपुर,टोंक,बूॅदी,कोटा तथा झालावाड़ से होकर गुजरने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग है-
    – राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 12
    व्याख्या – राज्य में इस राजमार्ग की लम्बाई 421 किमी. है।
  • राजस्थान का सबसे निकट स्थित बंदरगाह है-
    -कांडला
  • मरु त्रिकोण में शामिल जिले है-
    -जोधपुर, जैसलमेर, बीकानेर
  • राष्ट्रीय मार्ग संख्या 79, 89 एवं 8 जहॉं आकर मिलते हैं, वह स्थान है-
    -अजमेर
  • थार लिंक एक्सपेस रेल जो जोधपुर व मुनाबाव स्टेशनों के बीच चलती है कितने किमी. की दूरी तय करती है-
    -150 किमी.
  • राजस्थान से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग की संख्या कितनी है-
    – 26 Rajasthan GK 2019
  • राष्ट्रीय राजमार्ग 11 कहॉं से गुजरता है-
    – आगरा-भरतपुर-जयपुर-बीकानेर
  • जे राष्ट्रीय राजमार्ग राजस्थान से नहीं गुजरता है, वह है-
    – 23 Rajasthan GK 2019
  • राजस्थान के किस जिले से थार एक्सप्रेस शुरु होती है-
    -जोधपुर
  • राजस्थान के किस शहर में सर्वप्रथम मेट्रों ट्रेन प्रोजेक्ट आरम्भ किया-
    -जयपुर

Read More GK

  • राजस्थान में हवाई अड्डों की संख्या जहॉ से अंतर्राष्ट्रीय उड़ाने भरी जाती है-
    -एक
  • राजस्थान से पाकिस्तान को जाने वाली टेªेन का नाम है-
    – थार एक्सप्रेस Rajasthan GK 2020
  • राजस्थान में रेलवे ट्रेनिंग स्कूल कहॉ है-
    -उदयपुर
  • राजस्थान पर्यटन एवं भारतीय रेल द्वारा पैलेस ऑन व्हील्स की तरह एक और ट्रेन हाल ही में प्रारम्भ की गई ,इसका नाम है-
    – रॉयल राजस्थान ऑन व्हील्स
  • स्ंाागानेर हवाई अड्डा को अन्तर्राष्ट्रीय दर्जा कब दिया गया-
    -2005
  • कौनसा राष्ट्रीय राजमार्ग राजस्थान से निकलता है-
    – राष्ट्रीय राजमार्ग 8, 12 एवं 14
  • पाकिस्तान से आने वाली थार एक्सप्रेस ट्रेन का राजस्थान में प्रथम स्टेशन कहॉ है-
    -मुनाबाव
  • जयपुर मेट्रों की खास विशेषता क्या है, जिसे भारत में पहली बार शुरू किया जा रहा है-
    -डबल एलवेटेड स्ट्रक्चर
  • डूॅंगरपुर से शुरू होने वाली रेलवे लाइन राजस्थान के दक्षिणी भाग को किस बड़े रेलवे स्टेशन से जोड़ देगी-
    – रतनाम (मध्यप्रदेश)
  • राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम की स्थापना हुई-
    – 1964 ई. में
  • जयपुर-कोटपूतली से संबंधित राष्ट्रीय राजमार्ग है-
    -राष्ट्रीय राजमार्ग 8
  • वह जिला जिसमें राष्ट्रीय राजमार्ग नहीं है-
    -झुंझुनूं
  • राजस्थान में राजमार्गों की कुल संख्या है-
    – 21
  • राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-15 पर स्थित शहरों का क्रम हैं-
    -गंगानगर-बीकानेर-जैसलमेर-बाडमेर
  • उत्तर-पश्चिमी रेलवे का मुख्यालय कहॉ पर स्थित है-
    -जयपुर
  • राजस्थान में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कौन-सी नई रेलगाड़ी चलाने की योजना है-
    -द ग्रेट अरावली सफारी टेªन
  • डबोक हवाई अड्डा स्थित है-
    -उदयपुर
  • राष्ट्रीय राजमार्ग-15 जो पंजाब को गुजरात के साथ जोड़ता है व राजस्थान के कई जिलों से होकर गुजरता है, ऐसे जिलों की संख्या राज्य में है-
    -7 जिलें (गंगानगर, हनुमानगढ़, जालौर, बीकानेर, जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर)
    व्याख्या – अजमेर में पॉच राष्ट्रीय राजमार्ग 8, 14, 79ए, 89 आकर मिलते है। साथ ही जयपुर में भी पॉच राष्ट्रीय राजमार्ग 8, 11, 11ए, 11सी, 12 आकर मिलते है।