child care leave in rajasthan Rules 2018 – चाइल्ड केयर लीव इन राजस्थान

child care leave in rajasthan Rules 2018 – चाइल्ड केयर लीव इन राजस्थान Two Years Of Child Care Leave Vasundhara Raje has announced that the female employees working with the state government. Latest Child Care Leave News in Hindi. women employees News in Rajathan govt Kerala Maternity Benefit Scheme

child care leave in rajasthan Rules 2018 – चाइल्ड केयर लीव इन राजस्थान

चाइल्ड केयर लिव नोटिफिकेशन
चाइल्ड केयर लिव नोटिफिकेशन

चाइल्ड केयर लिव नोटिफिकेशन – PDF Downlode

PDF child care leave in rajasthan Rules F-RULES-7534-22052018

चाइल्ड केअर लीव नोटिफिकेशन
22 मई 2018 (हिन्दी अनुवाद)
👇👇👇👇👇👇👇👇

1- राजस्थान सेवा नियम 1951 में नया नियम 103 C चाइल्ड केअर लीव जोड़ा गया।

2- महिला राज्य कर्मिकों को पूरे सेवाकाल में कुल अवधि 730 दिन अर्थात 2 वर्ष के लिए देय होगा।

3- तत्काल प्रभाव से लागू किया गया।

4- चाइल्ड का तात्पर्य उसकी आयु 18 वर्ष से कम हो। 40% या उससे अधिक विकलांगता की स्थिति में 22 वर्ष तक चाइल्ड माना जायेगा।

5- यह सवैतनिक अवकाश होगा। अवकाश से पूर्व जो वेतन है मिलता रहेगा।

6- अन्य किसी भी अवकाश के साथ लिया/ जोड़ा जा सकता है।

7- इस अवकाश के लिए राज्य सरकार द्वारा जारी अनुमोदित प्रारूप में आवेदन करना होगा।

8- चाइल्ड केअर लीव अधिकार नही है। बिना पूर्व स्वीकृति के नहीं लिया जा सकेगा।

9- अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने वाले कर्मिकों को यह अवकाश देय नही होगा।

10- विपरीत परिस्थिति में अन्य अवकाश उपलब्धता की स्थिति में उन अवकाशों को चाइल्ड केअर लीव में परिवर्तित किया जा सकेगा।

11- इस अवकाश को अन्य अवकाश लेखो में से नहीं घटाया जा सकेगा। राज्य सरकार द्वारा निर्धारित फॉर्म में इन अवकाशों को संधारित किया जाएगा। तथा ये फॉर्म सेवा पुस्तिका में चिपकाया जाएगा।

12- राज्य सरकार/ विभाग के कार्य प्रभावित न हो ऐसी स्थिति में ये अवकाश स्वीकृत किया जा सकेगा।

13- एक कलेंडर वर्ष में अधिकतम तीन बार ये अवकाश लिया जा सकेगा। किन्तु अवकाश के दौरान दो कलेंडर वर्ष मिलने पर इसे नही लिया जा सकेगा। यदि ऐसी स्थिति बनती है तो जिस कलेंडर वर्ष में अवकाश शुरू हुआ है। उसमें इसे गिना जाएगा।

14- प्रोबेशनर्स को यह अवकाश देय नही होगा। फिर भी कोई लेता है तो उसका प्रोबेशन अवकाश अवधि के बराबर आगे बढ़ाया जाएगा।

15- यह अवकाश उपार्जित अवकाश की भांति ही ट्रीट होगा। तथा उसी प्रकार स्वीकृत किया जा सकेगा।

16- इस अवकाश के क्रम में रविवार, सर्वनानिक अवकाश आने पर वो गिने जाएंगे।

17- दिव्यांग चाइल्ड के लिए ये अवकाश लेने पर सक्षम अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर ही स्वीकृत किया जा सकेगा।

18- चाइल्ड के बीमार होने पर व बाहर रहने की स्थिति में डॉक्टर के प्रमाण के आधार पर ये अवकाश लिया जा सकेगा।

19- चाइल्ड की परीक्षा होने पर लिया जा सकेगा। यदि चाइल्ड होस्टल में रहता है तो महिला कार्मिक को यह तथ्य प्रस्तुत करना होगा कि होस्टल में आपकी केअर की जरूरत कैसे है। इसका प्रमाण प्रस्तुत करने पर ही हॉस्टलर्स चाइल्ड के लिए ये अवकाश स्वीकृत किया जा सकेगा।।

अनुवाद में त्रुटि होने पर नोटिफिकेशन का अंग्रेजी में आदेश ही मान्य होगा।

The child care bontress for the health department’s female officers-employees has been haunted by trouble. The health department has issued a decree. It states that the current status of the female employees visiting the holiday will be considered empty. When the work is affected, the other employee will be seated at the vacant post. If the employee who bontress the child care is returns back, they will be posted to another vacant post. This order is clean that child care taking bontress means washing hands with the current chair. The health department has heightened the discomfort of female employees after this order. Do not take vacations to keep the current deployment afloat, so will not be able to care for the child and taking vacations means that the deployment in a far-flung terrain after returning.

Child Care Leave Application Format – Click Here

चाइल्ड केयर लीव एप्लीकेशन फॉर्म इन हिंदी – Click Here

child care leave in rajasthan Rules 2018 - चाइल्ड केयर लीव इन राजस्थान
child care leave in rajasthan Rules 2018 – चाइल्ड केयर लीव इन राजस्थान

इस छुट्‌टी के लिए सिर्फ वे ही कर्मचारी आवेदन कर पाएंगी जिनके बच्चों की उम्र 18 साल से कम होगी। इसके अलावा एक साल में अधिकतम 30 दिन की छुट्‌टी ही मंजूर होगी। हालांकि हैल्थ ग्राउंड पर इसे बढ़ाया भी जा सकेगा। बता दें कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने 2015 में घोषणा की थी कि सरकार अपनी महिला कर्मचारियों को चाइल्ड केयर लीव देगी। हालांकि, इससे पहले भी वित्त विभाग ने प्रस्ताव तैयार किया था। तब कहा गया था कि अगर महिला कर्मचारी चाइल्ड केयर लीव पर जाती है तो छाया पद सृजित करना होगा, जिससे काम प्रभावित नहीं हो। इस कारण घोषणा के बाद भी मामला अटक गया था। अब तैयार प्रस्ताव में कहा है कि छाया पद सृजित करने की जरूरत नहीं क्योंकि समय-समय पर अफसर ट्रेनिंग अन्य कामों के लिए लंबी छुट्‌टी पर जाते हैं तो उनका काम अस्थाई रूप से किसी ओर को दे दिया जाता है।

बच्चे के बालिग होने तक मिलेगा लाभ, 1 साल में 30 से ज्यादा छुट्‌टी नहीं

18 साल बच्चे की उम्र होने तक ली जा सकेेगी छुट्‌टी

01 लाख महिला कर्मचारी हैं इस समय।

08 लाखराज्य कर्मचारी हैं कुल।

730 Day’s Meets vacation
MP regime Finance Department circular amends the MP civil service holiday on August 22, 2015, the female government servants of the State have been approved as a progeny care vacation Balcharaya holiday of the maximum 730 days ‘ call duration for the care of two eldest surviving offspring. In most departments, this has also been enforced. The Department of Health also enforces this recess, but this recess has come as departmental decrees poses trouble for female employees.

चाइल्ड केयर लीव की घोषणा

परिवीक्षा काल के दौरान। तथापि, विशेष परिस्थितियों में, यदि परिवीक्षा अवधि के दौरान अवकाश प्रदान किया जाता है तो परिवीक्षा अवधि उस अवधि के समतुल्य अवधि तक बढ़ाई जाएगी जिसके लिए छुट्टी दी जाएगी।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *