महापड़ाव में सम्मिलित होंगे मंत्रालयिक कर्मचारियों के परिवार

सोमवार को 50 हजार मंत्रालयिक कर्मचारी करेंगें आमरण अनशन

सामूहिक अवकाश से थमी राज्य सरकार के कार्यों की गति

जयपुर, दिनांक 29.09.2018(नि.स.)
राज्य सरकार की वादाखिलाफी के चलते प्रदेश के एक लाख मंत्रालयिक कर्मचारियों के सामूहिक अवकाश के कारण राज्य सरकार के सभी कार्यों की गति पूर्ण रूप से थम गयी है। अपनी जायज मांगों हेतु लगभग 50 हजार मंत्रालयिक कर्मचारी जयपुर के मानसरोवर में शिप्रापथ थाने के सामने 10 दिन से महापड़ाव डाले हुए हैं। इस सबके बावजूद राज्य सरकार ने प्रशासन की सबसे महत्वपूर्ण इस कड़ी से अभी तक कोई सम्पर्क नहीं किया है जिसके चलते मंत्रालयिक कर्मचारियों में सरकार के खिलाफ भारी रोष व्याप्त है।

महापड़ाव में सम्मिलित होंगे मंत्रालयिक कर्मचारियों के परिवार
महापड़ाव में सम्मिलित होंगे मंत्रालयिक कर्मचारियों के परिवार

प्रदेशाध्यक्ष मनोज सक्सैना ने कहा कि अनुशासित एवं मेहनतकश मंत्रालयिक कर्मचारियों के साथ हुए समझौते को लागू नहीं करके राज्य सरकार ने इस संवर्ग को जबरन आन्दोलन के रास्ते पर धकेला है। जंहा एक ओर राजस्थान अधीनस्थ सेवा के मंत्रालयिक कर्मचारी बारिश और धूप को सहन कर विपरीत परिस्थितियों में सरकार के समक्ष अपनी बात रख रहे हैं, वहीं पूर्व से ही अधिक पदौन्नति के अवसर सृजित होने के उपरान्त भी राज्य सरकार ने बिना किसी आवश्यकता के सचिवालय सेवा में पदौन्नति के अवसरों में बढोतरी के आदेश जारी किये हैं। सक्सैना ने यह भी कहा कि रविवार से मंत्रालयिक कर्मचारियों के परिवारजन एवं मित्रगण भी महापड़ाव में सम्मिलित होना आरम्भ करेंगें तथा सोमवार से भारी संख्या में प्रदेश के मंत्रालयिक कर्मचारी महापड़ाव स्थल पर आमरण अनशन करेंगे।

मंत्रालयिक कर्मचारियों
मंत्रालयिक कर्मचारियों
मंत्रालयिक कर्मचारियों
मंत्रालयिक कर्मचारियों

प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजसिंह चौधरी, विजय सिंह राजावत तथा जितेन्द्र सिंह राठौड़ ने कहा कि राज्य सरकार मंत्रालयिक कर्मियों की मांगें पूर्ण करने हेतु तो वित्तीय भार की बात करती है किन्तु जनप्रतिनिधियों के वेतन भत्ते बढ़ाने हेतु किसी तरह का कोई आकलन नहीं किया जाता है।
प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष भीखाराम चौधरी तथा कोषाध्यक्ष यतेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि रात्रि कालीन महापड़ाव में महिलाओं की संख्या में लगातार अप्रत्याशित वृद्धि हो रही है जिससे आन्दोलन को गति प्राप्त हो रही है।

**********************

News Update : 28/09/2018

मांगें मनवाने हेतु मंत्रालयिक कर्मी करेंगें आमरण अनशन वेतन को तरसेंगे प्रदेश के आठ लाख कर्मचारी, महापड़ाव में रात को महिला मंत्रालयिक कर्मचारी भी रूकेंगी

मांगें मनवाने हेतु मंत्रालयिक कर्मी करेंगें आमरण अनशन

जयपुर, दिनांक 28.09.2018(नि.स.) मंत्रालयिक कर्मचारियों के सामूहिक अवकाश पर रहने से वेतन बिल नहीं बनने के कारण प्रदेश के 8 लाख कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिल पाने के कारण बढ़ सकती हैं मुश्किलें। राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी महासंघ के प्रदेशव्यापी आह्वान पर प्रदेश के 132 विभागों के एक लाख मंत्रालयिक कर्मचारी अपनी 9 सूत्रीय मांगों को लेकर 9वें दिन भी सामूहिक अवकाश पर रहे। लगभग 40 हजार मंत्रालयिक कर्मचारी मानसरोवर के शिप्रापथ थाने के सामने, जयपुर में महापड़ाव डाले बैठे हैं, किन्तु राज्य सरकार ने अभी तक कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया है।

  • मांगें मनवाने हेतु मंत्रालयिक कर्मी करेंगें आमरण अनशन

  • वेतन को तरसेंगे प्रदेश के आठ लाख कर्मचारी

  • महापड़ाव में रात को महिला मंत्रालयिक कर्मचारी भी रूकेंगी

प्रदेशाध्यक्ष मनोज सक्सैना ने कहा कि राज्य सरकार के समक्ष अपनी मांगों के समर्थन में सोमवार से प्रदेश के एक लाख मंत्रालयिक कर्मचारी महापड़ाव स्थल पर आमरण अनशन करेंगे । ज्ञात रहे मंत्रालयिक कर्मी तेज धूप और बारिश में भी लगातार अपनी मांगों के लिए संघर्ष कर रहे हैं । राज्य सरकार की संवादहीनता से मंत्रालयिक कर्मचारियों में आक्रोश व्याप्त हो रहा है । राज्य सरकार से पुनः मांग की जाती है कि शीघ्र मंत्रालयिक कर्मचारियों के पक्ष में निर्णय लें ।
प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजसिंह चौधरी ने बताया कि महापड़ाव में मनाये गये मंत्रालयिक महिला शक्ति दिवस की परिणीति के रूप में प्रदेश में आन्दोलन को गति प्रदान करने के उद्देश्य से राजस्थान के इतिहास में प्रथम बार महिलाएं भी शुक्रवार से रात्रि महापड़ाव में सम्मिलित हुई हैं।
प्रदेश महामंत्री रमेशचन्द शर्मा एवं प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमलेश शर्मा तथा संयुक्त महामंत्री विरेन्द्र दाधीच ने बताया कि प्रदेश के समस्त जिलों से मंत्रालयिक कर्मचारियों का महापड़ाव में आना लगातार जारी है और सभी विभागों में काम पूर्णतया ठप्प पड़ा है। राजस्थान का मंत्रालयिक कर्मचारी वर्षों से किये जा रहे छलावे से आहत है और किसी भी सूरत में आन्दोलन से पीछे नहीं हटेगा, इसलिए सरकार को तत्काल मंत्रालयिक कर्मियों के पक्ष में आदेश पारित करने चाहिए। जैसलमेर सहित सभी जिलों से भारी संख्या में मंत्रालयिक कर्मचारी शनिवार को महापड़ाव में सम्मिलित होंगे ।

Rajasthan Strike : Latest News, Photos, Videos on Rajasthan
Rajasthan Strike : Latest News, Photos, Videos on Rajasthan

महासंघ के जयपुर जिलाध्यक्ष मुकेश मुद्गल एवं दौसा जिलाध्यक्ष जगदीश मीणा तथा बांसवाड़ा जिलाध्यक्ष महेन्द्र सिंह ने कहा कि ग्रेड पे 3600 की मांग पूरे राजस्थान के मंत्रालयिक कर्मचारियों के स्वाभिमान की न्यायसंगत मांग है। समकक्ष संवर्गों एवं निम्न संवर्गों को मंत्रालयिक कर्मचारियों से बहुत अधिक आगे बढाकर वेतन एवं भत्ते दिये जा रहे हैं जो कि नीतिगत नहीं है।
प्रदेश से आये लगभग 40 हजार मंत्रालयिक कर्मचारियों ने चूरू जिलाध्यक्ष दिनेश स्वामी सहित सभी उपचाराधीन मंत्रालयिक कर्मचारियों के शीघ्र स्वास्थ्य की कामना की एवं प्रदेशाध्यक्ष मनोज सक्सैना को विश्वास दिलाते हुए राज्य सरकार को चेतावनी भी दी कि राज्य सरकार मंत्रालयिक कर्मचारियों के सब्र का इम्तिहान न ले क्योंकि मंत्रालयिक कर्मचारी आदेश पारित होने से पूर्व आन्दोलन समाप्त नहीं करेंगें।

(मनोज सक्सैना)
प्रदेशाध्यक्ष

मांगें मनवाने हेतु मंत्रालयिक कर्मी करेंगें आमरण अनशन
मांगें मनवाने हेतु मंत्रालयिक कर्मी करेंगें आमरण अनशन

RSMSSB Industry Inspector Answer key 24.06.2018 Solved paper

RSMSSB Industry Inspector Answer key 24.06.2018 Solved paper Inspector Question Paper with Answers Udyog Nirikshak Rajasthan Udhyog vivag inspector papers

RSMSSB Industry Inspector Answer key 24.06.2018 Solved paper

Rajasthan Subordinate and the Ministerial Selection Recruitment Board has released 97 Industry Inspector Vacancy in the Month of March 2018. RSMSSB Udyog Nirikshak post Online Application Form Starting on 22 March 2018 and Last Date 20 April 2018.Udyog Prasar Adhikari Online form 2018 they are able to Download Industry Inspector Exam answer key 2018 RSMSSB Industry Inspector Examination will be held on (Sunday)24 June 2018 from 11:00 am to 1:00 pm .RSMSSB Recruitment Board Udyog Prasar Adhikari Exam Will be Conduct in Various District Exam Center in Rajasthan. RSMSSB Udyog Prasar Adhikari Exam answer key 2018 Name Wise

[social_warfare]

Name of the Exam : Industry Inspector [Udyog Nirikshak उद्योग प्रसार अधिकारी ]
Exam Date : 24 June 2018
Total Number of Post : 97 post
Category of post : Answer key 24.06.2018 Solved paper
Official website : www.rsmssb.rajasthan.gov.in

Download Udyog Nirikshak Answer key 2018 Online

Rajasthan subordinate and Minister Services Selection Board had requested online applications from 22 March 2018 to 20 April 2018, dated 97 vacant positions of industry publicity officer, Industry inspector, financial investigator, Handloom Inspector, salt Inspector. Candidate who applied online for Aresemesesabi industry extension officer status. They are all candidates now exploring the Aresemesesabi Industry Extension Officer’s exam date and admission letter. The Aresemesesabi industry extension officer’s written test will be done at the test centres of various districts from 11:00 a.m. to 01:00 p.m. on June 24, 2018. Admit card/aresemesesabi industry extension officer RSMSSB’s official website will be released on www.rsmssb.rajasthan.gov.in 7 days before the call letter exam date.

RSMSSB उंमीदवारों जो खोज रहे है वहां परिणाम यहां और वहां की खातिर के लिए कागज समाधान सेट का फैसला किया है । पेपर सॉल्यूशन में सभी सॉल्यूशन और मार्किंग स्कीम को शामिल किया जा सकेगा ताकि आपके मार्क्स की गणना करते समय आपको किसी भी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा । अपने स्कोर की सटीक विचार प्राप्त करने के बाद आप पिछले वर्ष के निशान से कट कि निशान से मेल खाना चाहिए और अगर आपको लगता है कि आप इस साल के कट बंद तो आगे की प्रक्रिया के लिए अपनी तैयारी शुरू दरार कर सकते हैं ।

  • RSMSSB Industry Officer Paper Solution 2018

  • Rajasthan RSMSSB Industry Officer Solved Papers 2018

  • RSMSSB Udyog Prasar Adhikari Answer Sheet 2018

  • RSMSSB Udyog Prasar Adhikari Answer Key 2018